जानिए संस्कृति IAS Coaching के अखिल मूर्ति सर के बारे में जो UPSC के छात्रों की पहली पसंद बने हुए हैं

IAS Coaching

दो दशक से अधिक समय से UPSC के छात्रों का मार्गदर्शन करते आ रहे अखिल मूर्ति सर इतिहास विषय के एक्सपर्ट एवं भारत की सर्वश्रेष्ठ कोचिंग Sanskriti IAS Coaching सेंटर के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। सर के प्रयास से हजारों अभ्यर्थियों ने अपने सपनों को साकार किया। सर के द्वारा पढ़ाए गए अनेक अभ्यर्थी देश के उच्च प्रशासनिक पदों पर आसीन हैं। अभ्यर्थियों के प्रति समर्पित भाव के कारण UPSC के छात्रों की पहली पसंद बने हुए हैं।

Sanskriti IAS Coaching

कौन हैं संस्कृति IAS Coaching के अखिल मूर्ति सर

UPSC की तैयारी करने वाला प्रत्येक अभ्यर्थी अखिल मूर्ति सर से अवश्य परिचित होता है।
• दो दशक से ज्यादा समय से हिंदी माध्यम के अभ्यर्थियों की तैयारी में योगदान दे रहे हैं।
• सर सामान्य अध्ययन में इतिहास एवं इतिहास वैकल्पिक विषय पढ़ाते हैं।
• UPSC के लिहाज से सर इतिहास विषय के पर्याय माने जाते हैं।
• लगभग डेढ़ दशक यानी दृष्टि IAS में सामान्य अध्ययन की शुरुआत से ही वहां पढ़ा रहे थे।
• अखिल सर ने दृष्टि IAS को छोड़ दिया है और वर्तमान में Sanskriti IAS में पढ़ा रहे हैं, जिसके मैनेजिंग डायरेक्टर भी हैं।
• छात्रों के लिए समर्पित Sanskriti IAS के मंच पर देश के सर्वश्रेष्ठ अध्यापकों को लेकर आए।
• सर के द्वारा लिखित पुस्तकें- प्राचीन भारत का इतिहास, आधुनिक भारत का इतिहास, विश्व इतिहास आदि हैं।

अखिल सर के UPSC छात्रों की पहली पसंद होने के कारण

UPSC के छात्रों के लिए सर का योगदान एवं समर्पित भाव छात्रों के बीच में लोकप्रियता बढ़ा रहा है। कुछ अन्य कारण निम्नलिखित हैं-
• दृष्टि IAS को छोड़कर अध्ययन में नवाचार को प्रोत्साहित किया।
• हिंदी माध्यम में कंटेंट की उपलब्धता सुनिश्चित की।
• एक ही संस्था (Sanskriti IAS) के माध्यम से UPSC की सम्पूर्ण तैयारी की व्यवस्था की है।
• पूरे भारत के जाने-माने सर्वश्रेष्ठ अध्यापकों को एक मंच पर लाए।
• अध्यापकों का अभ्यर्थियों से प्रत्यक्ष संवाद संभव हुआ।
• परीक्षा के परिणामों ने भी अभ्यर्थियों में विश्वास को बढ़ाया है, आदि।
हिंदी माध्यम के अभ्यर्थी की तैयारी की दिशा सर के द्वारा बनाए गए मार्ग से होकर ही गुजरती है। सर के प्रयासों से ही वर्तमान में अभ्यर्थी हिंदी माध्यम से सर्वोच्च पदों पर चयनित होने का सिर्फ सपना ही नहीं देख रहे बल्कि साकार भी कर रहे हैं।