समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में जिला सड़क सुरक्षा समिति की हुई बैठक

समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में उपायुक्त श्री कुलदीप चौधरी ने मंगलवार को जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक की। मौके पर माननीय बोकारो विधायक श्री बिरंची नारायण, अपर नगर आयुक्त श्री अनिल कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी चास श्री दिलीप प्रताप सिंह शेखावत, बोकारो विधायक प्रतिनिधि श्री संजय त्यागी, बेरमो विधायक प्रतिनिधि, जिला परिवहन पदाधिकारी श्री संजीव कुमार समेत अन्य उपस्थित थे।

बैठक में उपायुक्त श्री कुलदीप चौधरी ने पिछली बैठक में दिए गए निर्देशों के अनुपालन की क्रमवार समीक्षा की। जिला परिवहन पदाधिकारी ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि पूर्व में दिए निर्देशों का अनुपालन किया गया है। जिले में ज्यादातर सड़क दर्घटनाएं राष्ट्रीय राज्य मार्ग 32 एवं 23/218/स्टेट हाइवे/ग्रामीण सड़क पर हो रही है। जून माह में कुल 25 दुर्घटनाएं हुई। जिसमें मृतकों की संख्या 12 एवं गंभीर रूप से घायलों की संख्या 15 रही। इस माह सबसे ज्यादा चास प्रखंड में सड़क दुर्घटनाएं हुई। इसके कारणों पर विस्तृत चर्चा की। डीटीओ ने समिति को बताया कि एनएच 32 पर डिवाइडर/रेलिंग नहीं होने से सड़क दुर्घटनाएं हो रही है। इस पर उपायुक्त ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचए) को आइटीआइ चास मोड़ से पिड्राजोड़ा जिले के सीमा तक (एनएच 32) पर डिवाइडर/रेलिंग लगाने के लिए प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया।

माह जून में सड़क दुर्घटनाओं में घायलों के सदर अस्पताल – विभिन्न सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में उपचार कुल 175 लोगों का किया गया है। जिसमें से 154 लोगों की विवरणी आइआरएडी पोर्टल पर ऑनलाइन इंट्री कर दिया गया हैं, जबकि 21 लोगों का ऑनलाइन इंट्री लंबित है। इसे जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

बैठक में जिला परिवहन पदाधिकारी श्री संजीव कुमार ने बताया कि बोकारो स्टील सिटी क्षेत्र के सड़कों पर बीएसएल प्रबंधन द्वारा नियमों के अनुरूप ब्रेकर नहीं होने के कारण ज्यादातर सड़क दुर्घटनाएं हो रही है। इस पर बैठक में बीएसएल प्रबंधन का कोई प्रतिनिधि शामिल नहीं होने पर समिति अध्यक्ष सह उपायुक्त ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने बीएसएल प्रबंधन से इस बाबत स्पष्टीकरण पूछने एवं बीएससिटी क्षेत्र में ट्राफिक सिंगनल अधिष्ठापन के दिशा में प्रगति से समिति को अवगत कराने को कहा। वहीं, चास नगर निगम क्षेत्र में ट्राफिक सिंगनल अधिष्ठापन कार्य के संबंध में अपर नगर आयुक्त श्री अनिल कुमार सिंह से जानकारी ली।

समिति के समक्ष जिला परिवहन पदाधिकारी ने परिवहन विभाग द्वारा जनवरी 2023 से अब तक सड़क दुर्घटना में की गई कार्रवाई से अवगत कराया। परिवहन विभाग द्वारा जून माह में 133 ड्राइविंग लाइसेंस निलंबित किया गया है। बताया कि जून माह में परिवहन विभाग द्वारा जांच अभियान से 7,49,500 लाख, ट्राफिक पुलिस द्वारा जांच अभियान से 7,33,150 लाख, मोटरयान निरीक्षक द्वारा जांच अभियान से 2,21,640 लाख एवं उत्पाद विभाग द्वारा जांच अभियान चलाकर 1,01,000 लाख का जुर्माना वसूली की जानकारी दी।

बैठक में आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा एवं परिवहन विभाग द्वारा मृतक के परिजनों को राहत पहुंचाने के लिए दी जाने वाली मुआवजा के निष्पादन व लंबित मामलों की भी जानकारी दी गई। जिला परिवहन पदाधिकारी श्री संजीव कुमार ने बताया कि जीआइसी काउंसिल मुंबई में 55 मामले लंबित है। इस बाबत काउंसिल स्मार पत्र भेजा गया है, इससे राज्य को भी अवगत कराया गया है। वहीं, जिला आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा कुल 219 मामलों में 107 पीड़ित परिवारों को मुआवजा भुगतान कर दिया गया है। शेष मामलों को अनुमोदित कर दिया गया है, राशि आवंटन प्राप्त होते ही भुगतान कर दिया जाएगा।

उपायुक्त ने बैठक में नगर निगम चास क्षेत्र में सिटी बस सेवा शुरू होने को लेकर कार्रवाई की जानकारी ली। जिस पर अपर नगर आयुक्त ने बताया कि डीपीआर तैयार कर मुख्यालय भेज दिया गया है। इसके अलावा उन्होंने कई अन्य बिंदुओं पर भी चर्चा कर जरूरी दिशा – निर्देश दिया।

बैठक में माननीय बोकारो विधायक श्री बिरंची नारायण,बेरमो विधायक प्रतिनिधि आदि ने अपने – अपने क्षेत्र में सड़क – सुरक्षा से संबंधित स्थानीय समस्याओं एवं उसके निदान का सुझाव दिया। माननीय विधायक बोकारो ने सेक्टर 12 नया चौक, तेलीडीह नया चौक एवं बाड़ी कापरेटिव मोड़ में हाई मास्क लाइट अधिष्ठापन की बात कहीं। जिस पर उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को ठोस कदम उठाने को कहा।

सड़क दुर्घटना में घायल लोगों को गोल्डेन आवर में अस्पताल पहुंचाने वाले गुड सेमेरिटन योजना का भी व्यापक प्रचार – प्रसार करने को कहा। मौके पर चंदनकियारी प्रखंड के गुलाम फरीद को बतौर गुड सेमेरिटन का प्रशस्ति पत्र भी उपायुक्त,माननीय विधायक द्वारा सौंपा गया। उपायुक्त ने विद्यालयों में सड़क सुरक्षा पर जागरूकता कार्यक्रम/कार्यशाला आयोजित करने को कहा।